आर्टिफिसियल इंटेलिजेंस (AI) क्या है और कैसे काम करता है – Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi

आज के समय में टेक्नोलॉजी इतनी जल्दी डेवलप हो रही है कि हम सोच भी नही सकते है कि आने वाले 3 से 4 साल में हमारे जीवन में क्या क्या परिवर्तन होने वाला है। आज के समय में आपने एक कई टेक्नोलॉजी Artificial intelligence के बारे में सुना होगा। आज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी को हमारे लाइफ स्टाइल के कई सारे काम के एस्पेक्ट में इस्तेमाल किया जा रहा है। अगर आप जानना चाहते है कि यह Artificial Intelligence Kya Hai और यह कैसे काम करते है?, इसके फायदे क्या है?, इसके नुकसान क्या है? आप भी अगर इन सब विषय के बारे में विस्तार से जानना चाहते है तो आपको इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ना चाहिए

Table of Contents

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है? ( What is Artificial Intelligence In Hindi)

यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ( AI) ऐसी टेक्नोलॉजी में जिसमे बिलियंस की संख्या में डाटा को फीड कराया जाता है। जिससे वो टेक्नोलॉजी आपके द्वारा पूछे गए सवाल या प्रक्रिया को आपके सामने रख सके। आसान भाषा में बात करे तो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जिसमे सोचने और चीजों को समझने की कैपेबिलिटी एक इंसान के जितनी है। आने वाले समय में किस काम को करने के लिए आपको इंसानों का वर्कफोर्स लगता था। उसकी पूर्ति आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अकेले ही कर देगा।

अगर आपने कभी भी गूगल या टीवी पर अपने फ्यूचर से जुड़ा कोई क्लिप देखा होगा तो उसमे आपने रोबोट्स को जरूर देखा होगा। क्या आपको मालूम है कि यह रोबोट्स कौन से टेक्नोलॉजी पर काम करते है? तो हम आपको जानकारी दे कि यह रोबोट्स भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर ही काम करते है। वही अगर आप इस समय AI से जुड़े किसी टूल को अपने आस पास काफी सुन रहे है तो को है Chat GPT, यह भी एक टूल है जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी की मदद से ही बनकर तैयार हुआ है।

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के जनक कौन है?  Father of Artificial Intelligence Technology In hindi

एक अमेरिकन कंप्यूटर साइंटिस्ट ने साल 1950 में पहली बार Artificial Intelligence का नाम लिया था। इसी कारण से उन्हे ही Father of Artificial Intelligence के नाम से जाना जाता है। इसके बाद से Artificial Intelligence Technology के बारे में कई सारे टेक्नोलॉजी रिसर्चर ने काफी बाते कही और इस फील्ड में काम किया। इस समय की बात करे तो Artificial Intelligence को फ्यूचर माना जा रहा था। लेकिन जब 30 नवंबर 2022 में Chat GPT को लोगो के इस्तेमाल के लिए खोला गया। तब से Chat GPT के कारण Artificial Intelligence Technology वापिस से सबसे चर्चित विषय बन गया हैं।

आर्टिफिशल इंटेलिजेंस काम कैसे करता है? – How Artificial Intelligence Works In hindi

आप अगर जानना चाहते है कि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस लोगो के द्वारा पूछे गए सवालों का इतना ठीक जवाब कैसे दे पाता हैं। इसके पीछे क्या वर्किंग है? अगर आप ऐसे सवाल का जवाब प्राप्त करना चाहती है तो वर्ष 2023 में इसका जवाब देना असंभव है। इस समय सभी लोगो को केवल इस बात की जानकारी है कि इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के टेक्नोलॉजी को बनाने में किन किन एस्पेक्ट पर काम किया जाता है, अगर आप भी इन चीजों के बारे में जानना चाहते है तो आपको नीचे दिए गए पॉइंट्स को पढ़ना चाहिए।

Learning

किसी भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नोलॉजी को डेवलप करने के लिए सबसे पहले उसे डाटा से फीड किया जाता है। टेक्नोलॉजी को highly knowledgeable बनाने के लिए बिलियन की संख्या में डाटा फीड किया जाता है। यह प्रोसेस पूरे डेवलपमेंट के दौरान जारी ही रहता है। Data Feed करते समय इस बात का भी ध्यान रखा जाता है कि यह टेक्नोलॉजी किसी भी तरह से Human Life के लिए खतरा न बन जाए।

Reasoning

इस प्रक्रिया के दौरान टेक्नोलॉजी जो भी रिजल्ट दिखाती है। उसमे इंप्रूवमेंट की जाती है। इसका उदाहरण आप अभी Chat GPT में भी देख रहे है कि जब आप कोई सवाल उनसे पूछे है तो हजारों में से एक बार Chat GPT काफी अटपटा सा जवाब आपके सामने रख देता है। जिसके कारण Chat GPT के डेवलप के द्वारा फीडबैक देने का column बनाया गया है। जहां पर आप ऐसी चीजों की शिकायत कर सकते है। जिसके बाद डेवलप वापिस से उस सवाल के जवाब को इंप्रूव करने का प्रयास करते है।

Self Correction

यह प्रक्रिया भी Reasoning की प्रक्रिया के समान ही होती है। केवल इस प्रोसेस में जिस डाटा को improve किया जाता है वो टेक्जोलॉजी बनाने वाले डेवलप खुद ही error को देखकर ठीक करते है। जिसके बाद जब आप उनसे कोई सवाल पूछते है तो 100 में 99 बार वो आपको अच्छा और सटीक जवाब देने में सफल हो पाते है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रकार क्या है? – Types Of Artificial Intelligence In hindi

आज के समय में आर्टिफिशल इंटेलिजेंस को दो कैटेगरी में बांटा जा सकता हैं। यह कैटेगरी केवल एल्गोरिथम के इस्तेमाल के अनुरूप में ही बांटा गया है। जानने के लिए नीचे दिए गए सेक्शन को पढ़े,

Weak Artificial Intelligence

इस तरह के आर्टिफिशल इंटेलिजेंस ( AI) में सिंपल एल्गोरिथम का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह के Weak Artificial Intelligence का उदहारण Alexa और Siri हो सकते है।

Strong Artificial Intelligence

इस तरह के स्ट्रॉन्ग आर्टिफिशल इंटेलिजेंस ( AI) में कॉम्प्लेक्स एलोगोरिथम का एक पूरा सिस्टम तैयार किया जाता है। जिसके बाद AI technology वो काम कर पाने में सक्षम होती है जो एक इंसान कर सकता है। आज इस तरह के Strong Artificial Intelligence के उदहारण Chat GPT, Google Bard, Operational Robot है

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को इस्तेमाल कैसे करे? – Uses of Artificial Intelligence In Hindi

AI की बात करे तो करे तो जब से डिस्कवर हुआ है। तब से इस टेक्नोलॉजी में काफी सारे परिवर्तन देखने को मिले है। आज के समय में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल मार्केटिंग, हेल्थकेयर, बैंकिंग और फाइनेंस में भी किया जा रहा है। अगर आप भी जानना चाहते है कि आज के समय में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल कैसे हो रहा है तो आपको नीचे दिए गए पॉइंट्स को पढ़ना चाहिए।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को मार्केटिंग के फील्ड में आज कल काफी इस्तेमाल किया जा रहा है। आज से कुछ समय पहले जब आप ऑनलाइन कोई चीज लेना चाहते थे तो आपको गूगल पर उसे खुद सर्च करना होता था। आज के समय में अगर कोई चीज आपको चाहिए तो आपके डिवाइस में मौजूद ऐप्स आपके आपके behavior को रीड करते है और आपके सर्च करने से पहले ही आप जो चीज लेना चाहते है उससे संबंधित चीजे आपके सामने आने लगती है। आपने यही चीज Netflix या अन्य OTT प्लेटफार्म पर भी देखा होगा कि जब आपको कोई मूवी या सीरीज का नाम याद नही आता है तो आपके सर्च इंजन के हिस्ट्री या आपके ऑनलाइन behavior को एनालाइज करके आपको वही मूवी सबसे पहले दिखाई देती है।

आज के समय बैंकिंग के सेक्टर में भी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का काफी इस्तेमाल किया जाता है। अगर आपने कभी अपने बैंक के ऐप्स का इस्तेमाल किया होगा तो आपको हमेशा Chatbot का ऑप्शन दिखाई दिया होगा। आप अगर उस Chatbot पर क्लिक करके उनके साथ conversation करते है वो आपसे कोई बैंक का अधिकारी बात नही करता है। बल्कि AI बात करता है। इसी तरह का Chatbot आपने UPI ऐप का इस्तेमाल करते समय भी देखा होगा।

भारत के सबसे बड़े सरकार द्वारा चलाई जा रही सर्विस Railway ने भी AI Based अपना ऐप डेवलप किया है। जिसके अंदर आपको Ask Disha का विकल्प दिखाई देता है। आप ऐप के अंदर जाकर अपनी किसी भी तरह की शिकायत का निवारण करने का प्रयास इस ऐप के द्वारा कर सकते है।

आज के समय में AI का इस्तेमाल फाइनेंस के फील्ड में भी लिया जाता है। खासतौर पर शेयर मार्केट में। आज के समय में AI एक शेयर मार्केट एक्सपर्ट की तरह किसी भी शेयर के हिस्ट्री या अन्य फैक्टर को एनालाइज करके किसी भी शेयर के फ्यूचर के डायरेक्शन को एनालाइज कर लेता है।

हेल्थकेयर के फील्ड में भी आज AI का इस्तेमाल किया जाता है। आज कल काफी सारे ऑपरेशन डॉक्टर के देखरेख में रोबोट्स के द्वारा किए जाते है। अभी हाल ही देश के दूसरे सबसे बड़े हॉस्पिटल सफदरजंग अस्पताल में एक मरीज के किडनी ट्रांसप्लांट के ऑपरेशन को रोबोट्स ने ऑपरेट किया है।

आज हमारे आस पास काफी सारे टेक्नोलॉजी में AI का इस्तेमाल किया जाता है। आज के समय में घर में लगे पंखे में भी AI है। आप आज उन्हें अपने वॉइस के द्वारा ही ऑपरेट या ऑफ कर सकते है। आज हमारे पास कई सारे AI Tools है जो हमारे कठिन से कठिन काम को चंद सेकेंड के अंदर पूरा कर देते है।

इसे भी पढ़े ; 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के फायदे क्या है? – Benefits of Artificial Intelligence In Hindi

  • यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इंसानों के द्वारा काम के समय होने वाली गलती को कम करता है।
  • आर्टिफिशल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल करके कोई भी व्यक्ति अपनी एफिशिएंसी को बढ़ा सकता है।
  • इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके आप अपने काम में काफी ज्यादा Accuracy रख सकते है।
  • यह टेक्नोलॉजी आपके कंपनी के ट्रेनिंग के लागत को कम करता है।
  • यह टेक्नोलॉजी दिन में 24 घंटे तक काम कर सकती है।
  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इंसानों के डेली लाइफस्टाइल के कामों को भी आसान बनाता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के नुकसान क्या है? –  Disadvantages Of Artificial Intelligence In Hindi

  • इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना किसी भी कंपनी के लिए काफी महंगा हो सकता है।
  • इस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अधिक इस्तेमाल से ब्लू कॉलर जॉब में काफी कमी आ सकती है।
  • यह टेक्नोलॉजी किसी भी इंसान के एक्टिव नेचर को आलस में बदलने की एफिशिएंसी रखता है। जिसका असर इंसान के फिजिकल और मेंटल हेल्थ पर पड़ सकता है।

निष्कर्ष

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको Artificial intelligence Kya Hai? और उससे संबंधित विषय के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान करने का प्रयास किया है। उम्मीद है आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर ऐसा है तो आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तो और सहपाठी के साथ भी शेयर कर सकते है। वही अगर आपके मन में कोई सवाल आता है तो आप हमसे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में संपर्क कर सकते है।

FAQ : Artificial intelligence Kya Hai In Hindi

Q1. क्या Google AI Generated Content को इंडेक्स और रैंक करता है?

Ans : जी हा, Google किसी भी AI Generated Content को इंडेक्स करता है। Google search engine AI Generated Content को भी कई सारे फैक्टर्स पर एनालाइज करते है जैसे रिलीवेंस, क्वालिटी, यूजर एक्सपीरियंस और अथॉरिटी। अगर आपके द्वारा तैयार किया गया AI Generated Content इन फैक्टर्स पर खड़ा उतरता है तो Google AI Generated Content को भी रैंक और इंडेक्स करता है।

Q2. क्या AI SEO को Replace कर सकता है?

Ans : जी नहीं, SEO AI के द्वारा कभी भी रिप्लेस नही किया जा सकता है। यह AI आपके SEO के क्वालिटी को enhance कर सकता है। लेकिन रिप्लेस करना इस समय असंभव है।
 

Q3. किस तरह के जॉब और Skills को AI के द्वारा Replace नही किया जा सकता है?

Ans : ऐसे काफी सारे जॉब और स्किल्स है जिसे AI के द्वारा आसानी से रिप्लेस किया जा सकता है। लेकिन कुछ ऐसे भी सेक्टर है जहां पर AI अपनी एफिशिएंसी को साबित नही कर सकता है जैसे Creativity और Innovation, Business Leadership और Entrepreneurship
 

मेरा नाम शनि कुमार सैनी है मुझे इंटरनेट के जरिये लोगो के साथ जानकारी साझा करना अच्छा लगता है मैं इस ब्लॉग के जरिये लोगो के साथ टेक्नोलॉजी और ऑनलाइन पैसे कमाने का तरीका शेयर करता हु

2 thoughts on “आर्टिफिसियल इंटेलिजेंस (AI) क्या है और कैसे काम करता है – Artificial Intelligence Kya Hai In Hindi”

  1. ai ke bare may apne sahi information dhi bhaiya ap or esi prakar or bhi technology sat related jankari dete rhe

    Reply

Leave a Comment