बैंडविड्थ क्या है ,पूरी जानकारी -What is Bandwidth in Hindi

What Is  Bandwidth In Hindi इंटरनेट आज के जीवन में हमारे लिए बहुत ही जरुरी हिस्सा बन चूका है जितना ज्यादा सोना या फिर खाना पीना जितना जरुरी है उतना ही जरुरी आज के टाइम में इंटरनेट बन चूका है और आज कल हम लगभग छोटा सा छोटा जरूरत के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल करते है इंटरनेट बहुत ही बड़ा एक इलेक्ट्रॉनिक जाल है जो की Wired और Wireless दोनों तरह का होता है लेकिन आप ने इंटरनेट का इस्तेमाल करते हुए एक नाम तो जरूर सुना होगा वो है Bandwidth लेकिन बहुत से लोग इसके बारे में नहीं जानते है इसलिए आज हम इसके बारे में बात करेंगे की बैंडविड्थ क्या  है ? तो आज हम इसी के बारे में जानेगे की what is bandwidth in hindi और कैसे काम करता है तो चाहिए शुरू करते है |

बैंडविड्थ क्या है – what is bandwidth in hindi

एक निश्चित टाइम में कितना डेटा एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाया गया ऐसे मापने की विधि को बैंडविड्थ कहा जाता है आमतौर पर बडविड्थ को बाईट्रीट के रूप में व्यक्त किया जाता है और bits / Sec में मापा जाता है Bandwidth शब्द किसी कनेक्शन की संचरण क्षमता यानि ट्रांसमिशन केपेसिटी को को व्यक्त करता है जब इंटरनेट कनेक्शन की गुणवत्ता और गति की बात आती है तो इसका जरूरत पड़ती है आपको अब समझ आ गया होगा की Bandwidth Kya Hai और आप जानते है की इसका कहा और किस रूप में इस्तेमाल किया जाता है |

बैंडविड्थ का कहा और किस रूप में इस्तेमाल किया जाता है ?

बैंडविड्थ का इस्तेमाल कंप्यूटर में इंटरनेट के अलावा कई और तकनीकी क्षेत्र में बैंडविड्थ का प्रयोग किया जाता है जैसे उदाहरण के लिए सिगनल प्रोसेसिंग के क्षेत्र में इसका यूज़ , ट्रांसमिशन के ऊपरी हिस्से में इसका यूज़ और निचले आवृतियो में फ्रीक्वेंसी  के बीच के अंतर् को बताने लिए होता है ये ट्रांसमिशन रेडिओ का भी हो सकता है आमतौर पर इसे Hz में मापा जाता है पाइप से बहने वाली पानी को मापने के लिए बैंडविड्थ का प्रयोग होता है ऐसी स्थिति में प्रति सेकंड बिड्स की जगह गैलन / मिनट की दर से इसे मापा जा सकता है

what is bandwidth in hindi

जैसे की मैंने आपको ऊपर बताया की बैंडविड्थ को मूल रूप से Bits / Second में मापा जाता है और इसे BPS के रूप में व्यक्त किया जाता है हलाकि आज कल बैंडविड्थ को व्यक्त कर पाना बहुत ही आसान हो गया है आजकल नेटफेक्स बहुत ज्यादा क्षमता वाले बैंडविड्थ होते है और इनको छोटे इकाइयों को उपयोग करके इसे आसानी से व्यक्त किया जा सकता है अब ऐसे मेट्रिक्स को बड़े नंबर को देखना आम हो गया है जैसे MBPS ( Megabits Per Second ) , GBPS ( Gigabits Per Second ) , TBPS ( Terabytes Per Second) और Terabytes के बाद Petabit , Exhibit , Zeitabit और Yotabit आते है जिसमे प्रत्येक प्लस की अतिरिक्त पावर का प्रतिनिधित्व करते है |

बैंडविड्थ को मापने की विधि क्या है

बडविड्थ को मापने के कई अलग अलग तरीके है आमतौर पर बैंडविड्थ को मापने के सॉफ्टवेयर , फर्मवेयर और एक नेटवर्क इंटरफ़ेस का उदाहरण के लिए सामान्य बडविड्थ के लिए मापन में TTCP और PRTG नेटवर्क मॉनिटर टेस्ट का उपयोग शामिल है |

TTCP 2 होस्ट Sender और Receiver के बीच IP नेटवर्क पर प्रभाव क्षमता को मापता है अर्थात दोनों नेटवर्क के बीच कितनी गति से सम्पर्क हो रहा है इसके मापता है दोनों होस्ट एक तरफ की यात्रा करने में लगे byts की संख्या और कुल समय को प्रदर्शित करता है  |

PRTG का प्रयोग लम्बे अंतराल को मापने के लिए किया जाता है ये ग्राफिकल इंटरफ़ेस और चार्ट के जरिये बैंडविड्थ को दर्शाता है साथ में विभिन इंटरफ़ेस के ट्रैफिक को भी मापता है |

आमतौर पर बडविड्थ को मापने के लिए विशिष्ट अवधि के दौरान भेजे गए और प्राप्त किये गए ट्रैफिक की कुल मात्रा को गिना जाता है परिणाम स्वरूप इसे प्रति सेकंड माप संख्या के रूप में व्यक्त किया जाता है बैंडविड्थ को मापने के एक अन्य तरीका ये है निश्चित साइज के कुछ फाइल को ट्रांसफर किया जाये और देखा जाये ट्रांसफर में कुल कितना टाइम लग रहा है इसके बाद परिणाम को BPS में परिवर्तित किया जाता है जिसके लिए फाइल के साइज को टोटल लगे समय से भाग दिया जाता है अधिकतर कंप्यूटर में इंटरनेट स्पीड टेस्ट करने के लिए इसी विधि का प्रयोग किया जाता है |

बैंडविड्थ कैसे काम करता है

टेली कम्युनिकेशन सेंटर को बैंडविड्थ का कहा कहा और किस किस एप्लीकेशन में यूज़ होना है और उसके लिए इसका पता लगाना होता है इसके लिए 2 तरीके है

 

  1. वो पता लगाती है की कितना बडविड्थ नेटवर्क उपलब्ध है इसे Bits Per Second में व्यक्त किया जाता है
  2. अब एक एप्लीकेशन को कितने बैंडविड्थ की जरूरत है ये तय किया जाता है ये भी Bits per Second में व्यक्त किया जाता है बैंडविड्थ नेटवर्क जितना बड़ा होगा उससे एक बार में उतना ही डेटा भेज और प्राप्त कर सकते है \

बैंडविड्थ काम कैसे करता है इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है एक पानी का पाइप जितना बड़ा होगा उसमे से उतना ही अधिक पानी बह सकेगा बैंडविड्थ इसी सिद्धांत पर काम करता है नेटवर्क का जितना बड़ा कम्युनिकेशन लिंक होगा वो एक सेकंड में उतना ही अधिक डेटा ट्रांसफर कर सकेगा |

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में हमने जाना बैंडविड्थ के बारे में की बैंडविड्थ क्या है यानि what is bandwidth in hindi और कैसे काम करता है उम्मीद है ये जानकारी आपको जरूर पसंद आयी होगी अगर पसंद आयी तो हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताये और अपने सोशल मीडिया पर भी जरूर शेयर करे |

Leave a Comment

%d bloggers like this: