नेटवर्क क्या है और ये कितने प्रकार के होते है – Network Kya Hai In Hindi

मनुष्य अपनी बात एक दूसरे से साझा करने के लिए आवाज की मदद लेते हैं उसी तरह बहुत सारे पक्षी बातचीत करने के लिए तरंगों की मदद लेते हैं एक तरीके से वहां पर आवाज और तरंग माध्यम का काम करती है।

बिल्कुल उसी तरह एक कंप्यूटर भी दूसरे कंप्यूटर से बातचीत करने के लिए एक माध्यम की Help लेता है जिसे हम Network के रूप में जानते हैं आज इस लेख के माध्यम से हम आपको Network Kya Hai के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

इस पोस्ट के माध्यम से आप Network Devices In Hindi, Types Of Network In Hindi, History Of Network In Hindi के साथ-साथ नेटवर्क के बारे में अन्य सभी तरह की जानकारी प्राप्त करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

नेटवर्क क्या है – What Is Network In Hindi 

जब एक या एक से ज्यादा कंप्यूटर आपस में एक दूसरे से किसी माध्यम (Wire, Wired) के जरिए जुड़ जाते हैं तो इसे हम नेटवर्क के रूप में जानते हैं इस तरह कंप्यूटर आपस में जुड़ने के पश्चात संचार, डेटा का आदान-प्रदान, और संसाधन शेयर करना जैसे काम करते हैं।

Computer Network में एक साथ दर्जनों, सैकड़ों और कभी-कभी तो हजारों कंप्यूटर एक दूसरे से Connected रहते हैं जब आप किसी नेटवर्क को किसी डिवाइस से जोड़ते हैं तो इसे Networking कहा जाता है।

एक नेटवर्क से जुड़ने वाले हर एक डिवाइस(कंप्यूटर) को Node कहा जाता है वही जो कंप्यूटर नेटवर्क के लिए Resources उपलब्ध कराता है उसे Server कहा जाता है।

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि Nodes मतलब कंप्यूटर को आपस में जुड़ने के लिए एक माध्यम की आवश्यकता होती है इस तरह के Computer Network के माध्यमों के लिए Cable, Optical Cable, Wifi, Satellite, Bluetooth, Infrared आदि का इस्तेमाल किया जाता है।

अगर आप इसे उदाहरण की मदद से समझना चाहते हैं तो नेटवर्क का सबसे अच्छा उदाहरण है Internet यह दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे व्यस्त कंप्यूटर नेटवर्क है जिसके माध्यम से आप सभी तरह के Online कामों को कर पाते हैं जैसे वीडियो देखना, आर्टिकल पढ़ना, सूचना लेना, शेयर बाजार के बारे में पता करना आदि।

एक कंप्यूटर नेटवर्क में आप Computer, Server, Mainframe Computer, Smartphone, Telephone, Printer, Hub, Modem, Switch, Bridge आदि देखते हैं।

इन सभी उपकरणों को मिलाकर एक कंप्यूटर नेटवर्क का निर्माण किया जाता है और इन्हीं की मदद से Networking के दौरान संसाधनों का आदान-प्रदान होता है जिसे Resources Sharing के नाम से जाना जाता है।

दुनिया का पहला कंप्यूटर नेटवर्क

दुनिया के पहले कंप्यूटर नेटवर्क को साल 1960 में विकसित किया गया था इस पहले कंप्यूटर नेटवर्क का नाम ARPANET था इस नेटवर्क को इंटरनेट का पूर्वज माना जाता है ARPANET पर पहला मैसेज 29 अक्टूबर 1969 को भेजा गया तभी से इंटरनेट की शुरुआत को भी माना जाता है।

नेटवर्क का इतिहास – History Of Network In Hindi 

1960 के दशक के दौरान Paul Barren और Donald Devis नाम के दो लोगों ने 2 कंप्यूटरों के बीच Information के आदान-प्रदान के लिए Packet Switching की दिशा में काम करना शुरू किया।

इसी दिशा में आगे बढ़ते हुए वर्ष 1965 में Electronic Telephone Switch विकसित किया गया उस समय इस डिवाइस का इस्तेमाल कंप्यूटर को नियंत्रित करने के लिए किया जाता था।

इसी दिशा में लगातार खोज आगे बढ़ती रही और साल 1969 में Advance Research Project Agency Network(ARPANET) के पहले चार Nodes को मुख्य विश्वविद्यालय के बीच 50Kb/s की गति के लिए जोड़ा गया।

दोस्तों इस तरह ARPANET के लगातार विकास की वजह से दुनिया के सबसे बड़े और मजबूत नेटवर्क अर्थात इंटरनेट की नींव पड़ी।

साल 1976 में ARCNET नेटवर्क का निर्माण किया गया जिसका इस्तेमाल उपकरणों को साझा करने के लिए किया जाता था Ethernet के संबंध में 1973 से शोध कार्य शुरू किए गए और जुलाई 1976 में रोबोट मेटाकाफ तथा डेविड बोग्स ने अपने इस सिद्धांत के बारे में बताया।

इंटरनेट की दिशा में लगातार बढ़ते हुए विकास के कारण साल 1995 में Ethernet की Transmission Speed 10MB/S से बढ़कर 100MB/S हो गई और साल 1998 में यह गति 1 गीगाबाइट प्रति सेकंड हो चुकी थी आज के जमाने में इथरनेट को LAN के नाम से भी जाना जाता है।

Networking में इस्तेमाल होने वाली डिवाइस 

  • Computers, Servers, Mainframes
  • Smartphones, Tablet, PDAs
  • Cameras, Printers, FAXs
  • Firewalls
  • Bridges
  • Repeaters
  • Modem
  • Switches
  • Hubs
  • Routers
  • Network Interface Cards
  • Consoles,
  • Other Clients

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार- Types Of Network In Hindi 

एक नेटवर्क का इस्तेमाल करने में बहुत सारे तत्वों को शामिल किया जाता है इस तरह प्रत्येक नेटवर्क की क्षमता, बनावट और कार्यशैली अलग-अलग होती है इसी वजह से कंप्यूटर नेटवर्क के अलग-अलग प्रकार होते हैं जिनके बारे में नीचे बताया है।

  • PAN
  • HAN
  • CAN
  • LAN
  • MAN
  • WAN

नीचे हमने आपको प्रत्येक कंप्यूटर नेटवर्क के बारे में विस्तार से बताया है।

इसे भी पढ़े :

नेटवर्क कैसे काम करता है ?

जब दो या दो से ज्यादा कंप्यूटर आपस में जुड़ते हैं तो उसे नेटवर्क कहां जाता है ठीक उसी तरह सभी प्राइवेट और सरकारी संस्थान, उद्योग, फैक्ट्री, स्कूल, कॉलेज जैसे छोटे-छोटे नेटवर्क आपस में जुड़कर काम करने के तरीके को आसान बनाते हैं नेटवर्क बिल्कुल इसी तरह काम करता है।

1. Personal Area Network या PAN

यह एक निजी तरह का नेटवर्क होता है जब आप अपने दोस्त के मोबाइल फोन या कंप्यूटर से वीडियो, फोटो या इसी तरह का डाटा ले रहे होते हैं तब आप PAN का इस्तेमाल करते हैं।

PAN Network का इस्तेमाल ज्यादातर ब्लूटूथ डिवाइस में किया जाता है इसके साथ-साथ Infrared से जुड़ी डिवाइस में भी इस नेटवर्क का इस्तेमाल होता है।

Personal Area Network के दौरान कोई व्यक्ति अपने ऑफिस या घर से ही अपने कंप्यूटर, स्मार्टफोन या हेडफोन में से किसी एक उपकरण को Gateway से नियंत्रित कर सकता है और उनके बीच आपस में डाटा को शेयर कर सकता है।

2. Home Area Network या HAN

यह भी एक तरीके से निजी प्रकार का नेटवर्क होता है लेकिन इसका दायरा व्यक्तिगत ना होकर पारिवारिक तक हो जाता है।

HAN नेटवर्क को इस्तेमाल करते हुए एक घर में उपलब्ध अन्य सभी Devices जैसे Printers, Tablets, Speakers, Computers, Mobile Phones आदि को एक दूसरे से जोड़ा जा सकता है।

जब यह कनेक्शन आपस में सही तरीके से स्थापित हो जाता है तब आप अपने प्रिंटर में से Print Out निकाल सकते हैं, अपनी पसंद का गाना चला सकते हैं, अपने मोबाइल को स्पीकर से कनेक्ट कर सकते हैं, एक डिवाइस से दूसरी डिवाइस में डाटा आदि शेयर कर सकते हैं।

यह नेटवर्क Wired और Wireless दोनों तरीके से किया जा सकता है अगर आप HAN नेटवर्क में Wifi इस्तेमाल करते हैं तो यह ज्यादा बेहतर होता है।

3. Campus Area Network या CAN

इस नेटवर्क का प्रयोग ज्यादातर शैक्षिक संस्थान और सैन्य संस्थान में किया जाता है इसकी कनेक्टिविटी संस्थान विशेष तक ही सीमित रहती है यह काफी हद तक लोकल एरिया नेटवर्क का ही भाग होता है।

4. Local Area Network या LAN

जब एक सीमित स्थान जैसे कोई स्कूल, इमारत, ऑफिस, फैक्ट्री, कार्यालय आदि में दो या दो से अधिक कंप्यूटरों को आपस में एक दूसरे से जोड़ा जाता है तो इसे लोकल एरिया नेटवर्क कहते हैं।

LAN में विशेष रूप से इथरनेट और वाईफाई का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है क्योंकि इसमें एक साथ बहुत सारे कंप्यूटर जुड़े रहते हैं तो इसमें केबल का इस्तेमाल कम होता है।

LAN Network ज्यादातर कामकाजी स्थानों पर स्थापित किए जाते हैं इस नेटवर्क सिस्टम में एक मुख्य कंप्यूटर होता है जिसे Server कहते हैं जिसमें संस्था से संबंधित डाटा रखा जाता है।

इस डाटा को अन्य कंप्यूटरों से जोड़ दिया जाता है अगर किसी कर्मचारी को किसी फाइल की आवश्यकता पड़ती है तो वह अपने सिस्टम से ही उसे Access कर सकता है।

लोकल एरिया नेटवर्क ज्यादातर निजी नेटवर्क होते हैं इन की स्पीड बहुत अच्छी होती है साथ ही यह अन्य नेटवर्क के मुकाबले ये सुरक्षित माने जाते हैं इसका निर्माण करने में भी कम खर्च आता है।

5. Metropolitan Area Network या MAN

दोस्तों यह एक ऐसा नेटवर्क होता है जिसमें एक या एक से ज्यादा PAN, LAN आदि नेटवर्क जुड़े रहते हैं इसकी Connectivity सैकड़ों किलोमीटर तक होती है इस नेटवर्क की मदद से किसी बड़े शहर को आपस में जोड़ा जाता है।

Metropolitan Area Network की मदद से किसी बड़े शहर के सभी छोटे और बड़े Networks को आपस में जोड़ा जाता है और इस नेटवर्क सिस्टम में स्कूल, कॉलेज, केंपस, संस्थाएं व सरकारी संस्थाएं एक दूसरे से Connected रहती है।

6. Wide Area Network या WAN

Wide Area Network का सबसे अच्छा उदाहरण है इंटरनेट यह दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क है और इसका दायरा भी असीमित है इसी वजह से इस नेटवर्क को LAN Of LANs कहा जाता है।

Wide Area Network में बहुत सारे LAN, MAN, WAN आदि जुड़े रहते हैं इसकी मदद से आप दुनिया भर में किसी भी कंप्यूटर से कुछ ही सेकंड में कनेक्ट हो सकते हैं और लाइव टेलीकास्ट का मजा उठा सकते हैं ।

वाइड एरिया नेटवर्क में बहुत सारी तकनीको और प्रोटोकॉल(TCP/IP/ATM/MPLS) का इस्तेमाल होता है इस नेटवर्क में अन्य छोटे नेटवर्क को Connect करने के लिए Mediator IPSs की भी जरूरत होती है।

इसी वजह से Wide Area Network दुनिया में किसी भी अन्य नेटवर्क के मुकाबले सबसे ज्यादा महंगा होता है।

कंप्यूटर नेटवर्क के उपयोग (Uses Of Computer Network In Hindi)

  1. नेटवर्क की सहायता से कोई भी एक कंप्यूटर किसी अन्य दूसरे कंप्यूटर से आसानी से डाटा शेयर कर सकता है।
  2. नेटवर्क की वजह से कम्युनिकेशन करना बहुत ही आसान हो गया है इसकी मदद से ही हम दूर बैठे किसी भी व्यक्ति से बहुत आसानी से बात कर सकते हैं।
  3. Network के माध्यम से हम डाटा के साथ-साथ सभी तरह के संसाधन को भी साझा कर सकते हैं।
  4. इसकी मदद से आप सभी तरह के Software, Files आदि को भी शेयर कर सकते हैं।

Networking के लाभ

नेटवर्किंग के बहुत सारे फायदे मिलते हैं इसके बारे में नीचे विस्तार से बताया है।

Resources Sharing

नेटवर्क की मदद से हम किसी भी कंप्यूटर से जुड़े हुए साधन को इस्तेमाल करते हुए उसका प्रयोग अन्य कंप्यूटर पर कर सकते हैं जैसे अगर कोई कंप्यूटर Laser Printer से जुड़ा है तो नेटवर्क के अन्य Computers से उस सामग्री को Print किया जा सकता है।

Rapidly Transmission Of Data

Networking से दो कंप्यूटर के बीच डाटा का ट्रांसफर बहुत ही तेज गति से किया जा सकता है इस से समय की बचत होती है और आपका डाटा भी सुरक्षित तरीके से ट्रांसफर हो जाता है।

Reliability

इसकी मदद से किसी भी File की दो या दो से अधिक Copy अलग-अलग कंप्यूटर पर Store की जा सकती है अगर किसी वजह से एक कंप्यूटर खराब हो जाता है तो आपको वही डाटा दूसरे कंप्यूटर से प्राप्त हो जाता है।

इस तरह कंप्यूटर की Networking, Computers के लिए Back Up का भी काम करती है।

Network Topology

  • Ring Topology
  • Bus Topology
  • Star Topology
  • Mesh Topology
  • Tree Topology

निष्कर्ष

दोस्तों आज इस पोस्ट के माध्यम से आपने इंटरनेट से जुड़े हुए एक बहुत ही लोकप्रिय शब्द नेटवर्क के बारे में जानकारी प्राप्त की है हम आशा करते हैं कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी।

इस लेख के माध्यम से आपने नेटवर्क क्या होता है, नेटवर्क कितने प्रकार के होते हैं, आदि के साथ-साथ इससे जुड़े महत्वपूर्ण प्रश्नोत्तर के बारे में भी सीखा है।

अगर आप समझते हैं कि इस आर्टिकल से आपको नेटवर्क के संबंध में अच्छी, पूरी और गुणवत्ता पूर्ण जानकारी मिली है तो आप इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें।

FAQ : Network Kya Hai In Hindi 

Q1. नेटवर्क क्या है और उसके प्रकार?

Ans : कंप्यूटरों को आपस में जोड़ने की प्रक्रिया को नेटवर्क कहते हैं और वर्तमान समय में कंप्यूटर के लगभग 6  प्रकार मौजूद हैं।

Q2. दुनिया का पहला नेटवर्क क्या है?

Ans : ARPANET, दुनिया का पहला नेटवर्क है और इससे इंटरनेट की जननी के रूप में भी जाना चाहता है इस नेटवर्क की स्थापना 1960 के दशक में की गई थी इसकी मदद से दुनिया का पहला मैसेज साल 1969 में भेजा गया था।

Q3. दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क कौन सा है?

Ans : दुनिया का सबसे बड़ा नेटवर्क इंटरनेट है जिसकी मदद से आप कुछ ही सेकंड में किसी भी सामग्री के बारे में पता कर सकते हैं।

Leave a Comment

%d bloggers like this: