प्रॉक्सी सर्वर क्या होता है -पूरी जानकरी -what is Proxy server in hindi

अब लोगो सर्वर का नाम तो सुना ही होगा सर्वर एक ऐसा कंप्यूटर होता है जिस पर की सभी जानकरी स्टोर करके रखी जाती है हम भी जो भी चीज़े इंटरनेट पर web browser से search करते है तो वो चीज़े सीधे हम तक किसी सर्वर से होकर ही पहुँचती है आज भी हम आपको एक ऐसे ही Server के बारे में बताने वाले है जो है तो एक सर्वर ही लेकिन ये दूसरे सर्वर से एकदम अलग है जिसका नाम Proxy Server आप सोच रहे होंगे की Proxy Server Kya hota hai या फिर proxy server क्या है और ये कैसे काम करता है आज मेर आपको इसी के बारे में पूरी जानकरी देने वाला हु तो चलिए शुरू करते है |

Proxy Server क्या है – What is Proxy server in hindi

proxy server kya hota hai तो मैं आपको बता दू की proxy server एक ऐसा सर्वर होता है जो user और internet के बीच एक ब्रिज की तरह कार्य करता है जो की user को internet की दुनिया के बीच जोड़ता है Proxy Server एक ऐसा कंप्यूटर होता है जो Client और Internet के बीच Gateway यानि मुख्य द्वार की तरह कार्य करता है Proxy शब्द का मतलब होता है किसी दूसरे को प्रस्तुत करना या किसी दूसरे की तरफ से कार्य करना , Proxy Server क्लाइंट की तरफ से Internet पर Request भेजता है और फिर Internet क्लाइंट तक जानकरी भेजता है |

इंटरनेट पर हर कंप्यूटर के लिए एक विशेष इंटरनेट पता यानि की IP Address मौजूद होता है IP Address को आप इस तरह से समझ सकते है जैसे आपके के घर का एक पता यानि Address होता है जहा पर आपके नाम का Letter या फिर Package आपके address पर Deliver होता है उसी तरह Internet से डेटा को आपके डिवाइस तक पहुंचाने के लिए IP Address का यूज़ किया जाता है IP Address की वजह से Internet से आपकी डिवाइस के loction का पता चल सकता है बहुत से लोग Proxy Server का इस्तेमाल अपने कंप्यूटर का IP Address को छुपाने के लिए करते है |

Proxy Server Kya hota hai

जब आप इंटरनेट पर किसी वेबसाइट तक पहुँचने के लिए किसी Browser का इस्तेमाल करते है तो आप इस वेबसाइट से सीधे जुड़ जाते है जिस वेबसाइट पर आप जाना चाहते है लेकिन Proxy Server आपकी और से अन्य IP Address का इस्तेमाल कर वेबसाइट के साथ संवाद करते है और आप तक जानकरी पहुंचाते है जिससे आपके Device का IP Address छुप जाता है इसका मतलब है की हम वेबसाइट को अपने कंप्यूटर सिस्टम या फिर अन्य डिवाइस देख तो सकते है लेकिन वेबसाइट के सर्वर से जुड़ने वाली System कोई और ही होती है जिसे Proxy Server कहा जाता है इस सर्वर की हेल्प से हम किसी वेबसाइट को सीधे कंप्यूटर से Access न करके proxy server के द्वारा Access कर सकते है |

Proxy Server kya hota hai

Proxy Server काम कैसे करता है ?

प्रॉक्सी सर्वर यूजर और वेबसाइट सर्वर बीच एक माध्यम का काम करता  है जब User को कोई जानकरी चाहिए होता है तो वो Web Browser में किसी Web Page या Website को सर्च करता है यूजर का Request तब प्रॉक्सी सर्वर से होते हुए वेबसाइट के सर्वर तक पहुँचता है और फिर वेबसाइट का सर्वर प्रॉक्सी सर्वर से आये हुए Request के आधार पर कंटेंट या फाइल को प्रॉक्सी सर्वर पर भेजता है फिर प्रॉक्सी सर्वर से यूजर की डिवाइस पर जानकरी भेज दी जाती है |

जब भी कोई यूजर प्रॉक्सी सर्वर के द्वारा किसी वेबसाइट को access पर चाहता है तो वो डायरेक्ट नहीं कर पता उसके लिए सबसे प्रॉक्सी सर्वर के पास जाती है और फिर वो request प्रॉक्सी सर्वर से मैन वेब सर्वर तक जाती है इस तरह वेब सर्वर की डायरेक्ट क्लाइंट को भेजने के बजाए पहले प्रॉक्सी सर्वर को डेटा भेजता है अगर आसान भाषा में कहे तो यूजर को इंटरनेट से डेटा Indirect तरीके से मिल रहा होता है |

Proxy Server kya hota hai

प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

अकसर अपने देखा होगा की बहुत से School और College या फिर Office में बहुत सारी वेबसाइट Block कर दी जाती है और बहुत साडी वेबसाइट को ऐसी भी होती है जिन्हे कुछ देश में Access में अनुमति भी नहीं होती है तो ऐसे में इंटरनेट की कम जानकरी होने की वजह से बहुत से इन Block वेबसाइट को access नहीं कर पाते असल में प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल Block वेबसाइट को Open करने या यु कहे की खोलने के लिए किया जाता है साथ ही में प्रॉक्सी सर्वर यूजर को Security से जुडी सुविधा भी प्रदान करती है

आमतौर पर प्रॉक्सी सर्वर का कम आपकी पहचान को गोपनीय रखते हुए आपके के द्वारा मांगी गयी जानकरी को आपके सामने प्रदर्शित करना है इसके बारे में आपको थोड़ा विस्तार से बताता हु

मैंने आपको बताया था की इंटरनेट से जुड़े सभी कंप्यूटर का अपना एक Unique IP Address होता है जिसके जरिये इंटरेनट को ये पता चल पाता है को कौन सा कंप्यूटर कौन से लोकेशन में स्थित है ताकि सही डेटा सही कंप्यूटर तक पहुंचाया जा सके प्रॉक्सी सर्वर भी एक प्रकार कंप्यूटर ही होता है जिसका खुद का एक Unique IP Address होता है तप जब भी यूजर को इंटरनेट से कोई जानकरी चाहिए होती है तो उसके लिए आपका डिवाइस सबसे पहले प्रॉक्सी सर्वर को Request भेजता है और प्रॉक्सी सर्वर User के Request को उस डेस्टिनेशन सर्वर को भेज डेटा है जहा पर वो इन्फॉर्मेंशन स्टोर रहता है यूजर के कंप्यूटर और सर्वर के बीच सीधे तौर पर कोई कम्युनिकेशन नहीं होता इसलिए सर्वर यूजर के IP Address का पता नहीं चल पाता जिससे यूजर की सिस्टम की पहचान छुप जाती है इसी तरह प्रॉक्सी सर्वर सिक्योरिटी की सुविधा प्रदान करता है |

Proxy Server kya hota hai

Blocked वेबसाइट को खोलने में प्रॉक्सी सर्वर की क्या भूमिका होती है ?

किसी किसी देश में या किसी गवर्नमेंट आर्गेनाइजेशन कुछ वेबसाइट को Block कर दिया जाता है आप जितना भी कोशिश कर लीजिये आप उस Block वेबसाइट को अपने सिस्टम में खोल कर नहीं दे सकते लेकिन अगर आप प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल करके Blocked वेबसाइट को खोलने की कोशिश करेंगे तो आप आसानी से उनके कंटेंट को देख पाएंगे |

जब आप किसी block वेबसाइट को प्रॉक्सी सर्वर के जरिये खोलते है तो इंटरनेट पर आपका IP Address छुपा दिया जाता है और उसकी जगह एक ऐसा IP Address दे दिया जाता है जिस पर वो वेबसाइट Block न हो इस तरह से आप अपने डिवाइस से ब्लॉक वेबसाइट को खोल पाते है aअगर आप कोई Block वेबसाइट को खोलना चाहते है Free Proxy Server list type करना है और आपको बहुत से ऐसे वेबसाइट मिल जायेंगे जहा से आपको फ्री प्रॉक्सी सर्वर की लिस्ट मिल जाएगी उनमे से आप एक प्रॉक्सी सर्वर सेलेक्ट कर आपको ओपन करके Search box पर ब्लॉक वेबसाइट का URL टाइप करके और सर्च कर दीजिये और सर्च करते ही आपका सर्च किया गया वेबसाइट ओपन हो जाएगा |

Proxy Server के फायदे

अब हम आपको बताते है की प्रॉक्सी सर्वर का क्या क्या फायदे है

  1. प्रॉक्सी सर्वर का इस्तेमाल ज्यादातर Caching के लिए किया जाता है
  2. प्रॉक्सी सर्वर IP Address को छुपा डेटा है
  3. प्रॉक्सी सर्वर के द्वारा ब्लॉक वेबसाइट को खोला जा सकता है , यूजर की Request पर किसी वेबसाइट को ब्लॉक भी किया जा सकता है
  4. किसी भी आर्गेनाइजेशन के लिए अपने सर्वर हैक होने से प्रॉक्सी सर्वर बचाता है |

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में हमने आपको बताया की Proxy Server  क्या है या फिर Proxy Server kya hota hai और ये कैसे काम करता है अगर ये जानकरी आपको पसंद आयी तो नीचे कँनेट बॉक्स में बताना न भूले और साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर जरूर करे |

Leave a Comment

%d bloggers like this: