Software kya hai और कैसे बनाते है ? पूरी जानकरी

आज कल लगभग सभी काम ऑनलाइन हो जाते है या फिर इंटरनेट से हो जाते है क्या अपने कभी सोचा है जो एप्लीकेशन का यूज़ करते है वो कैसे बनाये जाते है और इन्हे कम्प्यूटर की भाषा में क्या कहते है तो हम आपको बता दे जो भी एप्लीकेशन आप या हम इस्तेमाल करते है उसे Software की मदद से बनाया जाता है अब आपके मन में ये सवाल जरूर आया होगा की ये Software kya hai और ये कैसे बनाते है और ये कैसे काम करता है और आज आपको बताएंगे की Software kaise Banaye जाते है |

Software डेटा इंस्ट्रक्शन या प्रोग्राम का एक सेट होता है जो कंप्यूटर और विशिस्ट कार्य को पूरा करने के लिए बनाया जाता है हार्डवेयर जो कंप्यूटर के भौतिक पहलुओं का वरणं करता है ठीक इसके विपरीत सॉफ्टवेयर एक सामान्य शब्द है जिसका यूज़ किसी एप्लीकेशन Script और प्रोग्राम को प्रकाशित करने की लिए किया जाता है |

आज के आर्टिकल में हम आपको बताएंगे की Software kya hai और Software kaise banaye जाते है और किन किन बातो का ध्यान रखना पड़ता है इन सब के बारे में बताएंगे और साथ ही लैंग्वेज कैसे सीखे जाते के बारे में भी बताएंगे इस आर्टिकल को आखरी तक पढ़े आपको सभी सवाल के जवाब मिल जायेंगे |

Software kaise banaye

यह भी पढ़े :- black Fungus क्या है और ये कैसे फैलता है 

सॉफ्टवेयर क्या है  ? ( What is software)

सॉफ्टवेयर एक संरचना है जो कंप्यूटर को विशिष्ट कार्य को करने के लिए निर्देश देता है Instruction के एक समूह को प्रोग्राम के रूप में भी जाना जाता है सॉफ्टवेयर जो कम्प्यूटर पर चलते है वो बाइनरी कोड 0, 1 के रूप में होते है लेकिन बाइनरी के रूप में में सॉफ्टवेयर लिखना असंभव है इसलिए बहुत सारे इंजीनियरो ने कोई सारे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का जैसे C , C++ , Java और Python आदि को बनाया पर कभी कभी 2 या 2 से अधिक लैंग्वेज का उपयोग एक विशेष सॉफ्टवेयर बनाने के लिए किया जाता है |

यह भी पढ़े :- Instagram से पैसे कैसे कमाए 

Software kaise banaye

सॉफ्टवेयर की परिभषा

सॉफ्टवेयर की परिभाषा को सरल भाषा में समझे तो सॉफ्टवेयर को न तो आप छू सकते है और न ही आप इसे देख सकते है बिना सॉफ्टवेयर के आपका कंप्यूटर एक बक्शा सामान है जिसका कोई मतलब नहीं है क्युकी सॉफ्टवेयर एक निर्जीव वस्तु है और इसका कोई  भौतिक अस्तित्व भी नहीं होता है इसे बस केवल समझा जाता है क्युकी यह एक आभारी वस्तु है |

सॉफ्टवेयर की खोज किसने की थी ?

सॉफ्टवेयर की खोज  Ada Lovelace ने किया था |

Software कैसे बनता है ?

किसी भी प्रोग्राम को या किसी भी लैंग्वेज का उपयोग करते हुए लिखा जा सकता है जो की किसी भी इंसान को समझ में आ जाती है जिसे  प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की जानकारी होती है कोई भी सिंपल प्रोग्राम एक डेवेलपर द्वारा एक उचित समय में लिखा जा सकता है हालांकि की पेशेवर सॉफ्टवेयर में सैकड़ो डेवलेपर शामिल हो सकते है क्या आप जानते है की एक बड़े सॉफ्टवेयर को सैकड़ो या हज़ारो फाइल में बाँटा जाता है सॉफ्टवेयर डेवेलपर अपने सॉवरे पर कड़ी मेहनत करते है लेकिन Code के साथ हमेशा कुछ न कुछ समस्या होती है और हम इन समस्या को Bugs कहते है  |

Software kaise banaye

सॉफ्टवेयर का एक हिस्सा पब्लिक के जारी जिए जाने के बाद भी सॉफ्टवेयर डेवेलपर को Bugs को ठीक करना जारी रखना पड़ता है जिससे की वो सॉफ्टवेयर को और बेहतर बना सके यही कारण है की सॉफ्टवेयर में समय समय पर अपडेट या नए संस्करण आते रहते है |

यह भी पढ़े :- Mobile से पैसे कैसे कमाए – पूरी जानकरी 

Software kaise banaye

सॉफ्टवेयर को कितने तरीके से बनाया जा सकता है

सॉफ्टवेयर को दो अलग अलग तरीके से बनाया जा सकता है |

  1. Proprietary
  2. Open Source

  1 . Proprietary

किसी इंसान या कंपनी के स्वामित्व वाला सॉफ्टवेयर बेचने के लिए बनाया जाता है इसको Source को पब्लिक्ली जारी नहीं किया जाता है केवल सॉफ्टवेयर को जारी कर दिया जाता है |

Software kaise Banaye

2 . Open Source

ओपन सोर्स उन्हें कहते है जो की फ्री होते है इनके सोर्स को कोई भी एक्सीएस कर सकता है ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर के मालिक को Donation के द्वारा पैसा मिलता है |

सॉफ्टवेयर कितने प्रकार को होते है

  1. Application Software
  2. System Software

1 . एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर  क्या है ( Application Software )

ऐसे सॉफ्टवेयर जो यूजर के काम आता है जैसे MS Word , Firefox  आदि एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर वो होता है जो कंप्यूटर सिस्टम का यूज़ विशेष कार्य के लिए करता है या कंप्यूटर के मूल संचालन से परे एंटरटेनमेंट कराता है अब क्युकी मॉडर्न आयु में कंप्यूटर से किये जाने वाले कामो में बहुत सारे काम जुड़ गए है तो अब बहुत से अलग अलग तरह के एप्लीकेशन बन रहे है |

2 . सिस्टम सॉफ्टवेयर क्या है ( System Software )

ऐसे सिस्टम सॉफ्टवेयर जो कंप्यूटर या फिर सिस्टम पर कार्य करता है जैसे OS , Drive , Firmware आदि सिस्टम सॉफ्टवेयर वो होते है जो की कंप्यूटर के हार्डवेयर को मैनेज करता है , सिस्टम सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन सिस्टम को चलने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए भी डिज़ाइन किया जाता है जैसे Operating System , Device Driver Utilities आदि |

सॉफ्टवेयर कैसे बना सकते है ?

सॉफ्टवेयर को निम्लिखित रूप से बनाया जा सकता है जिसे हम एक एक करके जानेंगे

Find Your Interest

हमने आपको अभी ही बताया की सॉफ्टवेयर डेवलेपमेंट के 2 टाइप होते है एक है एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर और दूसरा है सिस्टम सॉफ्टवेयर तो आपको पहले ये फैसला करना होगा की आपको सी टाइप का सॉफ्टवेयर बनाना है या आपकी रूचि किस तरह के सॉफ्टवेयर बनाने में है |

Learn a Programing Language

कुछ नया करने या फिर कुछ नया बनाने की आईडिया तो किसी के मन में भी आ सकता है लेकिन उन आईडिया को एक डेवेलपर ही मूल रूप दे पाता है यह तक की आप केवल सॉफ्टवेयर डिज़ाइन पर ही काम करना चाहते है तो भी आपको Coding सीखना पड़ेगा और बेसिक Prototype बनाने में सक्षम होना पड़ेगा बहुत सारे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज मौजूद है जिनमे से आप कोई भी सीख सकते है इसमें से कुछ जरुरी है |

1 . C  Language

अभी भी उपयोग में आने वाली पुराणी भाषाओ में से एक है और ज्यादातर भाषाओ का आधार है C Language प्रोग्राम का उपयोग Low Level प्रोग्राम को करने के लिए किया जाता है |

2 . C++ Language

ये C लैंग्वेज का Object Oriented वर्जन है और ये दुनिया में सबसे ज्यादा लोकप्रिय प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है Chrome , Firefox , Photoshop और बहुत सारे बड़े सॉफ्टवेयर C++ सीखकर बनाये गए है ये वीडियो गेम बनाए के लिए भी बहुत ही पॉपुलर लैंग्वेज है C++ आज भी डेवलेपर की काफी डिमांड है |

3 . Java

ये C++ का विकसित रूप है और इसका इस्तेमाल पोर्टिबिलिटी की आसानी की वजह से किया जाता है इसका इस्तेमाल वीडियो गेम और बिज़नेस सॉफ्टवेयर में किया जाता है और बहुत से लोग इसे जरुरी भाषा भी मानते है |

4 . C#

C# एक Windows बेस्ड लैंग्वेज है जो Microsoft से एक NET फ्रेमवर्क का एक हिस्सा है ये Java और C++ से जुड़ा हुआ है अगर आप जाव सीखते है तो आप आसानी से C# सीख सकते है |

5 . Objective-C

ये C भाषा एक और चहेरा भाई है जो विशेष रूप से Apple System के लिए डिज़ाइन किया गया है ये लैंग्वेज i-pad और i-phone Apps के लिए अधिक लोकप्रिय है एक फ्रीलांसर के रूप में सिखने के लिए एक शानदार भाषा है |

6 . Python

ये सीखने के लिए एक आसान भाषा है Python का सबसे ज्यादा इस्तेमाल Web डेवलपमेंट के लिए किया जाता है |

Find Resources

ज्यादार बुक्स स्टोर में एक पूरा सेक्शन ही प्रोग्रामिंग के किताब से भरी होती है इसके अलावा आप Amazon जैसे E-Commerce वेबसाइट पर भी आपको बहुत साड़ी किताबे मिल जाएगी आपके पास अच्छी रथ से लिखी हुयी प्रोग्रामिंग किताबे होनी चाहिए ताकि आप सॉफ्टवेयर बनाते समय उनकी हेल्प ले सके और Coding अच्छे से सीख सके किताबो के अलावा आपको इंटरनेट पर भी बहुत सारे ऐसे प्लेटफार्म मिल जाएंगर जहा से आप हेल्प ले सकते है जैसे

Code Academy  

Code.Org 

Khan Academy

Bento 

Udemy 

W3 Schools 

जैसी वेबसाइट पर अपनी पसंद की गाइड ढूंढे और सीखे |

Work On Pet Projects

इससे पहले की आप अपने नए प्रोग्रामिंग स्किल्स को असली दुनिया में आप नौकरी पाने के लिए या सॉफ्टवेयर बना कर लॉन्च करने के लिए इस्तेमाल करे अपने लिए कुछ प्रोजेक्ट बनाकर काम करे अपने प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग करके समस्यो को हल करने के लिए खुद को चनौती दे ये न केवल ये आपके स्किल्स को डेवलप करेगा बल्कि Resume को स्ट्रांग करेगा जैसे आप वीडियो गेम बनाने में इंटरस्टेड है तो ऐसी गेम पर काम करे जो ग्रापिक्स या कॉप्लेक्स मशीन के बिना हो जाये इसके बजाए उन्हें मजेदार और अनोखा बनाने पर ध्यान केंद्रित करे आपके द्वसरा बनाये गए छोटे खेलो का इक संग्रह आपके पोर्टपोलिओ में अच्छा लगेगा |

Software kaise Banaye

सॉफ्टवेयर बनाते समय किन किन बातो का ध्यान देना चाहिए

1 . Quality & Reliability

जब भी आप नया सॉफ्टवेयर बनाये तो सॉफ्टवेयर की क्वालिटी पर विशेष ध्यान दे जैसे की खासतौर पर commercial और system सॉफ्टवेयर के लिए यदि सॉफ्टवेयर में कोई दिक्कत आ रही तो किसी व्यक्ति के काम को डिलीट कर सकता है या फिर कंप्यूटर  को क्रॉस कर सकता है और भी बहुत साड़ी छेड़ छाड़ कर सकता है error को बग्स कहा जाता है जो Alfa और Beeta टेस्टिंग के दौरान खोजे जाते है सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के जरिये बहुत से बग्स खोजे और मिटाये जाते है हलाकि सॉफ्टवेयर टेस्टिंग शायद ही कभी बग्स की खत्म पर पाए कुछ प्रोग्रामर कहते है की हर प्रोग्राम में कम से कम एक बग्स होता है

सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग Unit testing , Regression Testing और बहुत से ऐसे दूसरे सारे तरीके से की जा सकती है जिसे मैनुअली किया जाता हैक्युकी टेस्टिंग किये जाने वाले टेस्ट की कोड संख्या काफी बड़ी होती है |

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में में हमने जाना की Software kya hai और Software kaise banaye जाते है अगर ये जानकारी आपको पसंद आयी तो निचे कमेंट करके जरूर बताये और अपनसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी शेयर करे |

Software kaise banaye

Leave a Comment

%d bloggers like this: