Web Hosting kya Hai और ये कैसे काम करता है ? what is web hosting in hindi

इंटरनेट पर आप खुद की वेबसाइट बनाने की सोच रहे है तो आपको सबसे पहले  Domain और Web Hosting की जरूरत पड़ेगी अब आप सोच रहे होंगे की Doamin क्या होता है ? और Web Hosting kya Hai तो मैं आपको बता दू Domain kisi भी वेबसाइट का Address होता है जैसे gyaanmaster.com ये वेबसाइट का एड्रेस है जिसे वेबसाइट में सर्च करके आप मेरी वेबसाइट या किसी के वेबसाइट तक आ सकते है |

वेबसाइट पर कोई भी फाइल रखने के लिए जगह की जरूरत होती है उसे इंटरनेट की भाषा में Hosting कहा जाता है जो लोग शुरू शुरू में इंटरनेट पर वेबसाइट या ब्लॉग बनाने आते है इन्हे  इसके बारे में अच्छी जानकरी नहीं होती और वो कोई भी होस्टिंग खरीद कर उस पर वेबसाइट या ब्लॉग बना देते है जिससे इन्हे बाद में पछताना पड़ता है इसलिए

आज के आर्टिकल में हम आपको बताएंगे की Web hosting kya hai in Hindi और ये कैसे काम करता है और होस्टिंग कितने प्रकार है होता है और बहुत से चीज़ो के बारे में जानेंगे तो चलिए शुरू करते है |

Web hosting kya hai in Hindi

Also Read :- Black Fungus क्या है और ये कैसे फैलता है पूरी जानकारी 

वेब होस्टिंग क्या है -What is web hosting in Hindi

आपको अगर वेबसाइट या ब्लॉग बनाना है तो आप ने Domain खरीद लिया लिया जब उस वेबसाइट को कोई विजिट करेगा तो जो कंटेंट तो जो वेबसाइट के अंदर चीज़े रहती है जैसे वीडियो , आर्टिकल , इमेज , गाना या कोई भी चीज़  जो फाइल होता है उसे स्टोर करना पड़ता है Sever पर जिससे की जब भी कोई हमारे साइट को विजिट करे तो  तुरंत उसे वो कंटेंट दिखे दूसरे भाषा में कहे तो कोई इंटरनेट पर हम कोई वेबसाइट बनाते है डोमेन खरीदते है और होस्टिंग तो अपनी फाइल को इंटरनेट पर रखने के लिए जगह की जरूरत उसे हम इंटरनेट की भाषा में Web Hostiung कहते है आप आपको पता चल  गया होगा की Web Hosting kya hai |

घुमा फिरा कर बोले तो जो भी हम वेबसाइट बनाते है उसके लिए Coding करते है वो जो coding की फाइल होती है या फिर इमेज की फाइल रहती है और जो भी हमारा डेटा रहता है हम Sever में स्टोर करके रखते है जिससे की कोई भी कही से भी हमारी वेबसाइट को ओपन करे और जो वो Sever है जिसके पास पहले से ही हमारी फाइल है वो डायरेक्टली ओपन हो जाये वो फाइल जो है वो अलग अलग लैंग्वेज में होती है HTML , CSS , JAVA Scripts , php आदि | इंटरनेट पर ऐसी बहुत सारी वेबसाइट है जहा से आप वेब होस्टिंग खरीद सकते है |

Web hosting kya hai in Hindi

Also Read :- WordPress Par ब्लॉग कैसे बनाये 

Server कितने प्रकार के होते है ?

अगर आप पहली बार सर्वर खरीदते जा रहे तो मैं आपको बता दू की सर्वर 2 टाइप के होते है |

1 . Windows Server

2 . Linux Server

1 . Windows Server क्या है ?

अगर आप अपनी वेबसाइट .net पर बना रहे है asp में बना रहे है तो आपको Windows Server लेना चाहिए लेकिन विंडोज सर्वर महंगा मिलता है क्युकी विंडोज में आपको licence लेना पड़ेगा तो हर सर्वर से हमे अलग से लाइसेंस लेना पड़ेगा लेकिन मैं आपको बता दू ये सब हमे नहीं लेना जिस भी वेबसाइट से हम होस्टिंग लेते है वो सब हमे एक साथ पेमेंट बता देते है तो उन्हें आप पेमेंट दे देते है  और वो आपको Server दे देते है |

2 . Linux Server क्या है ?

इंटरनेट पर ज्यादातर वेबसाइट Linux Server पर बनी हुयी है क्युकी ये Open Source होती है और linux जो है वो windows server के मुकाबले सस्ता होता है इसलिए जिस भी वेबसाइट आप Linux का सर्वर लेंगे तो वो ज्यादा महंगा नहीं रहेगा क्युकी ज्यादातर वेबसाइट उसी पर बनी  हुई होती है और Gyaan Master यानि हमारी वेबसाइट भी Linux पर बनी हुई है अगर आप चाहते है WordPress इनस्टॉल करे , Jumla इनस्टॉल करे या फिर php में डेवलपिंग करे या फिर  Python में डेवलपिंग करे तो इसके लिए Linux Server बेस्ट रहेगा |

वेब होस्टिंग के प्रकार

तो आपको आग पता चल गया  होगा की Server कितने टाइप के होते है होस्टिंग के अलग अलग प्रकार होते है तो मैं आपको बता दू की होस्टिंग भी बहुत टाइप के होते है मन लीजिये आपने अगर नया वेबसाइट बनाया है तो जिस पर ज्यादा लोग विजिट नहीं कर रहे तो आपको बड़ा Server लेने की जरूरत नहीं है क्युकी Server भी बहुत तरह के होते है तो मैं आपको बता दू की वेब होस्टिंग 4 प्रकार के होते है |

  1.  Shared Hosting
  2. VPS Hosting
  3. Dedicated Hosting
  4. Cloud Hosting

और जानेगे की कौन सा होस्टिंग का यूज़ कौन कर सकता है इसके फायदे और नुकसान क्यां क्या है और अगर आपको वेबसाइट नई है और उस पर काम विज़िटर आते है तो कौन सा होस्टिंग यूज़ करना चाहिए और अगर आपके वेबसाइट पर ज्यादा या फिर डेली आपको साइट पर लाखो लोग विजिट करते है तो कौन सा होस्टिंग लेना सही रहेगा आपके लिए |

1 . Shared Hosting क्या है ?

अगर आपने नई वेबसाइट बनाई है तो आपको शेयर्ड होस्टिंग ही खरीदना चाहिए क्युकी इसमें आपको Space अन्य होस्टिंग के मुकाबले कम मिलता है shared Hosting का मतलब सीधा है मन लीजिये आपने जब आप घर  से बाहर पढ़ने जाते है और आप किराये पर रूम लेकर रह रहे होते है और उस रूम में और भी बहुत लोग share कर रहे होते है ठीक वैसे ही share hosting काम करती है |

जैसे की आपको नाम से ही पता चल रहा है ये शेयर्ड होस्टिंग है इसमें बहुत सारे वेबसाइट एक ही सर्वर का यूज़ कर रहे है क्युकी आप एक सर्वर का इस्तेमाल बहुत सारी वेबसाइट मिल कर उसके RAM , CPU का यूज़ कर रहे है इसलिए जैसे आपके वेबसाइट पर एक ही बार में बहुत सारे visiter आ जाये तो उस समय आपकी वेबसाइट की स्पीड स्लो हो जाती है और हो सके तो उस समय आपको वेबसाइट ओपन ही न हो या कोई एरर देखने को मिल सकता है |

shared hosting के फायदे

  • ये काफी  सस्ता होता है
  • अगर आप नया वेबसाइट  या ब्लॉग बना रहे तो उनके लिए काफी अच्छा है
  • इससे आप आसानी से यूज़ भी कर सकते है

shared Hosting के नुकसान

  • उसकी  Security उतनी अच्छी नहीं मिलती है
  • इसमें आपको limited resource access करने को मिलता है
  • एक ही सर्वर पर बहुत से वेबसाइट होने की वजह से स्पीड कम मिलती है

2 . VPS Hosting क्या है ?

VPS का पूरा नाम Virtual private Server है ये शेयर्ड होस्टिंग में मुकाबले अच्छा होता है और इसमें आपको VPS को हम Shared और Dedicated का मिश्रण समझा जा सकता है इसमें आपको Dedicated Server होता है लेकिन ये सर्वर  Virtual Server मिलता है न की physical Server मिलता है आईये इसे विस्तार में समझते है |

मन लीजिये इसमें आपको एक सर्वर का डिब्बा होता है जिसे अलग अलग बराबर बराबर भागो में बाँट दिया जाता है जिसमे आपको  शेयर्ड होस्टिंग के मकाबले काफी अच्छी स्पीड और बैंडविथ मिलता है और इसमें आपको शेयर्ड होस्टिंग के मुकाबले ज्यादा RAM और ज्यादा CPU पावर मिलता है और ये शेयर्ड होस्टिंग से महंगा होता है इसमें आपकी वेबसाइट पर ज्यादा विज़िटर आने पर भी स्पीड अच्छी मिलती है |

VPS Hosting के फायदे

  • इसमें आपको ज्यादा RAM और CPU पावर देखने को मिल जाता है
  • इसमें आप शेयर्ड होस्टिंग के मुकाबले ज्यादा visiter आने पर भी आपको स्पीड कम नहीं होगी
  • अगर आपको वेबसाइट थोड़ी ज्यादा बड़ी है तो इसका यूज़ कर सकते है
  • इसमें आपको अच्छी स्पीड देखने को मिल जाती है
  • इसमें आपको Privacy और Security काफी अच्छी मिलती है
  • इसमें आपको अच्छा कस्टमर सपोर्ट भी मिलता है

VPS Hosting के नुकसान

  • इसके इस्तेमाल के लिए आपके पास अच्छा जानकारी होनी चाहिए
  • इसमें आपको Dedicated Hosting के मुकाबले कम resource मिलता है
  • इसमें आपको dedicated hosting के मुकाबले थोड़ी काम स्पीड मिलती है

3 . Dedicated Hosting क्या है

इसमें आपको Shared और VPS hosting के मुकाबले स्पीड काफी अच्छी होती है अगर आपकी वेबसाइट Flipkart और Amazon जैसी बड़ी है जिस पर 1 मिनट में लाखो लोग visit करते है तो आपको Dedicated Hosting ले सकते है इसमें आपको ज्यादा RAM और Top Level की CPU पावर मिलता है इसमें आपको किसी भी चीज़ का कोई भी लिमिटेशन नहीं होता है

Shared और VPS होस्टिंग की तरह dedicated sever काफी महंगा होता है क्युकी  इसके पुरे एक सर्वर पर बस आप ही का अधिकार होता है और ये काफी महंगा इसलिए होता है क्युकी इसके पुरे सर्वर पर बस आपकी ही साइट होस्ट हो रही होती है और इस सर्वर का पूरा कंट्रोल आपके हाथ में होता है उसमे आप बहुत से ट्रैफिक को आसानी से संभाल लेता है इसमें आपको लगभग 16GB RAM और i5 या i7 का प्रोसेसर मिल जाता है जिससे इसकी स्पीड काफी बढ़ जाती है |

Dedicated hosting के फायदे

  • अगर आपके साइट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक भी आसानी से झेल लेता है 
  • ये सभी होस्टिंग की तुलना में काफी secure है
  • ये सबसे ज्यादा Stable भी है
  • इसमें आपको Client का Full Root Access प्रदान किया जाता है

Dedicated hosting के नुकसान

  • ये और होस्टिंग के मुकाबले काफी महंगा होता है
  • इसे कंट्रोल करने के लिए आपके पास अच्छी Technical Knowledge होना चाहिए
  • यह पर आप आपने प्रॉब्लम को खुद solve नहीं कर सकते है

Web Hosting Kya Hai

4 . Cloud Hosting क्या है ?

ये भी सभी होस्टिंग की तरह एक होस्टिंग ही है Shared & VPS होस्टिंग के साथ एक समस्या है की उसमे आपको resource कम मिलते है यह पर स्टोरेज और कैपेसिटी की एक लिमिट होती है हलाकि ज्यादातर वेबसाइट इसकी लिमिट तक तक नहीं पहुंच पाती लेकिन कभी कभी हमारे वेबसाइट के कुछ कंटेंट वायरल हो जाते है तो अचानक से उस पर ट्रैफिक बढ़ जाता है जिससे  हैंडल करना मुश्किल हो जाता है इस लिए इस समस्या का समाधान हमे Cloud Storage पर मिल जाता है यह अपर एक सर्वर नहीं बल्कि बहुत  सारे सर्वर मिलकर अपनी वेबसाइट को होस्ट करते है बाईट कुछ सालो में Cloud Hosting का चलन बढ़ा है

Cloud hosting आपके वेबसाइट को High Volume Traffic को होने पर भी आपकी वेबसाइट को स्पीड को डाउन नहीं होने देता है cloud web hosting में Load को Balance किया जाता है इसमें आपके सिक्योरिटी का विशेष ध्यान दिया जाता है |

Cloud Hosting के फायदे

  • यह सर्वर डाउन होने का चांस काफी कम होता है क्युकी इसमें आपके फाइल क्लाउड पर स्टोर होते है
  • यहां पर High ट्रफ़िक को आसानी से हैंडल किया जा सकता है

Cloud Hosting के नुकसान

  • ये काफी  महंगा होता है
  • यह Root Access की सुविधा नहीं प्रदान करता है

होस्टिंग कैसे खरीदे

वेब होस्टिंग खरीदने से पहले कुछ ऐसी चीज़ो पर ध्यान दे जिससे की आपको बाद में पछताना न पड़े

Speed

होस्टिंग खरीदते समय सबसे पहले देखी जाती है वो है की वेबसाइट आपकी कितनी जल्दी ओपन हो रही अगर अपने अपने वेबसाइट में हाई क़्वालिटी कंटेंट लिखा है और SEO भी अच्छे से किया है और आपकी वेबसाइट जल्दी ओपन नहीं हो रही तो वो अच्छे से रैंक नहीं होगी |

Disk Space

होस्टिंग खरीदते समय आपको ये देखना चाहिए की आपको स्टोरेज कितना मिल रहा है डिस्क स्टोरेज का मतलब ये होता है की आपको होस्टिंग की स्टोरेज कितनी होती है जैसे की लैपटॉप या कंप्यूटर में अपने 500 GB या फिर 1TB का स्टोरेज रहता है उसी तरह आपके होस्टिंग का भी स्टोरेज होता है अगर आप अनलिमिटेड डिस्क स्पेस वाला प्लान लेना चाहिए क्युकी आपके फ्यूचर में  डिस्क फूल होने का खतरा काफी हद तक कम रहेगा |

Bandwidth

बैंडविड्थ का मतलब ये होता है 1 सेकंड में आपकी वेबसाइट पर कितने लोग आ रहे और वो कितना डाटा एक्सेस कर सकते है उसे हम बैंडविड्थ कहते है जब भी कोई यूजर आपकी वेबसाइट को एक्सेस करता है और आपकी होस्टिंग का सर्वर यूज़ करके यूज़ इन्फॉर्मेंशन शेयर कर रहा है इसलिए आपको ज्यादा बडविड्थ देने वाले होस्टिंग प्रोवाइडर से ही होस्टिंग खरीदता छाइये आग आपके वेबसाइट का बैंडविड्थ कम है तो अगर आपके वेबसाइट पर एक टाइम पर ज्यादा लोग विजिट करेंगे तो आपकी वेबसाइट की स्पीड स्लो हो जाएगा |

Uptime

आपकी वेबसाइट जितने टाइम ऑनलाइन या अवेलेबल रहता है यूज़ Uptime कहा जाता है मन लीजिये कभी कुछ प्रॉब्लम के कारण  apka वेबसाइट की स्पीड डाउन हो जाती है या फिर वेबसाइट खुल ही नहीं पाता है उसे हम बैंडविड्थ कहते है और आज कल लग भग सभी कंपनी 99.99 % Uptime का भरोसा देते है |

Customer Support

आपकी वेबसाइट में अगर कोई प्रॉब्लम आता है या फिर वेबसाइट बंद हो जाता है या कोई और प्रॉब्लम आता है तो आपको सपोर्ट कितना जल्दी मिल जाता है ये देखना बहुत जरुरी है बहुत से ऐसी कंपनी है जो आपको 24 x 7 का सपोर्ट देते है इसलिए आपको अगर कोई होस्टिंग लेनी है तो आपको ये चीज़ जरूर देखना चाहिए की आपकी होस्टिंग प्रोवाइडर आपको कोई प्रॉब्लम होने पर कितना जल्दी सही करता है |

Web Hosting काम कैसे करता है ?

वेब होस्टिंग के लिए बहुत सारी कंपनी होती है जो की वेबसाइट ओनर को अपने सर्वर पर वेबसाइट होस्ट करने की सुविधा देती है जो बढ़ले में हर महीने हमसे कुछ पैसा लेती है वेबसाइट के के सभी html file , image , video , article आदि को अपने सर्वर पर अपलोड करने के उसे इंटरनेट के द्वारा जब भी कोई हमारी वेबसाइट को ओपन करता है तो सभी फाइल को यूजर के सामने प्रस्तुत करता है |

Web Hosting Kya Hai

वेब होस्टिंग कहा से खरीदे ?

इंटरनेट पर बहुत से ऐसे वेबसाइट है जो की जो होस्टिंग सुविधा प्रोवाइड करती है उसके बदले हमसे कुछ रूपये चार्ज करती है कुछ होस्टिंग कंपनी के नाम में आपको बताता हु जहा से आप होस्टिंग खरीद सकते है |

Go Daddy 

Hostinger 

Hostgator 

Also Read:- 5 TOP Best Web hosting Cheapest rate में 

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में हमने जाना की Web Hosting Kya Hai और ये कैसे काम करता है ये जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताये और सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे |

1 thought on “Web Hosting kya Hai और ये कैसे काम करता है ? what is web hosting in hindi”

Leave a Comment

%d bloggers like this: