पाइथन ( Python )क्या है पूरी जानकारी – Python Kya Hai In hindi

Python Kya Hai In Hindi कंप्यूटर और मोबाइल पर Run होने वाले जितने भी एप्लीकेशन या सॉफ्टवेयर होते है वो किसी न किसी प्रोग्राम पर ही चलते है जो की किसी न किसी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज द्वारा ही बनाये गए होते है आज के टाइम में आपको बहुत से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज देखने को मिल जायेंगे जैसे C , C++ , Java इत्यादि ये सभी कंप्यूटर लैंग्वेज होते है जो की मनुष्य द्वारा लिखे और समझे जाते है और हर लैंग्वेज के अलग अलग फीचर होते है जो एक दूसरे से अलग बनाते है जैसे जैसे तकनीकी ने बदलाव होते जा रहे वैसे वैसे इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में बदलाव होते है जो यूजर को बेहतरीन फीचर प्रदान करते है ऐसी ही एक लैंग्वेज है किजका नाम है Python आज हम इसी के बारे में जानने वाले है की Python Kya Hai in hindi और इसके फीचर क्या क्या है और साथ ही Python के बारे में बहुत कुछ जानेंगे |

पाइथन क्या है – what is Python in hindi

पाइथन एक Open Source हाई लेवल इंटरकेडे और जनरल परपस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है  जिसका इस्तेमाल करना बेहत आसान होता है साथ ये बहुत ही शक्तिशाली लैंग्वेज भी मानी जाती है पाइथन एक बहुत ही बेहतरीन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसकी हेल्प से बहुत तेज़ी से एप्लीकेशन को बनाया जा सकता है पाइथन का इस्तेमाल डेस्कटॉप , GUI एप्लीकेशन , वेबसाइट और वेब एप्लीकेशन बनाने में किया जाता है पाइथन लैंग्वेज C , C++ के तरह ही एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है पाइथन को प्रोग्रामिंग कम्युनिटी इंडेक्स द्वारा दुनिया के 10 सबसे पॉपुलर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में सबसे ऊपर स्थान का दर्जा दिया गया है और ये बाकि लैंग्वेज के मुकाबले आसान है इसका सिंटेक्स यूनिक है जो इस भाषा को यूजर के लिए पढ़ने योग्य बनाता है |

python kya hai in hindi

अलग अलग डेवेलपर पाइथन लैंग्वेज को पढ़ कर ट्रांसलेट भी कर सकते है जो दूसरी भाषा के मुकाबले बहुत आसान होता है पाइथन में Dynamic Type System और Automatic Memory Managemnet की सुविधा होती है ऐसी वजह से प्रोग्राम के मेन्टेन्स और डेवेलपमेंट का खर्च भी कम आता है पॉवरफुल लैंग्वेज होने के वजह से गूगल , यू ट्यूब , इंस्टाग्राम , क्वोरा , पिंटरेस्ट जैसी बड़ी कंपनी भी इसका इस्तेमाल कर रही है पाइथन लैंग्वेज मोडल्स और पैकेजेस के उपयोग का सपोर्ट करता है |

पाइथन का इतिहास

पाइथन का आविष्कार नीदरलैंड में Guido Van Rossum द्वारा किया गया था पाइथन की शुरुआत 1980 में हुयी और करीब 10 साल बाद 1991 में पाइथन को लॉन्च किया गया और जनवरी 1994 में पाइथन का पहला वर्जन पाइथन  1.0  निकाला गया था इस भाषा को इस तरह से बनाया गया है की इसमें लिखे गए कोड आसानी से पढ़े और समझे जा सकते है इसकी खासियत ये भी है इसे सिखने के लिए हमे कोई पैसा नहीं देना पड़ता और इसके लिए किसी भी लाइसेंस की जरूरत भी नहीं पड़ती ये जनरल पब्लिक लाइसेंस पर पर उपलब्ध है जो की एक फ्री सॉफ्टवेयर लाइसेंस है जो यूजर को सॉफ्टवेयर चलाने और पढ़ने की अनुमति देता है |

Python Version का इतिहास

  1. Python 0.9.0 ( Feb , 1991)
  2. Python 1.0 ( Jan , 1994 )
  3. Python 2.0 ( Oct , 2000 )
  4. Python 2.7.0 ( July 2010 )
  5. Python 3 ( Dec , 2008 )
  6. Python 3.6 ( Dec 2016 )
  7. Python 3.6.5 ( Mar 2018 )
  8. Python 3.7.0 ( May 2018 )
  9. Python 3.8 ( Oct 2019 )
  10. Python 3.9 ( Oct 2020 )

इस प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का नाम पाइथन क्यों रखा गया ?

आपके मन ने ये सवाल जरूर आ रहा होगा की इसका पाइथन क्यों रखा गया पाइथन नाम एक सांप के प्रजाति का नाम है तो मैं आपको बता दू की इस नाम की उत्पत्ति एक कॉमेडी शो से हुयी थी जो की 1970 दशक में BBC Comedy Series द्वारा Monti Python’s Flying Circus के नाम से एक स्किप्ट प्रकाशित हुयी थी इससे प्रभावित होकर Guido Van Rossum ने अपनी भाषा का नाम पाइथन रख दिया फ़िलहाल पाइथन लैंग्वेज को इस वक़्त Co Development Team द्वारा मेन्टेन किया जाता है जो पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में हमेशा नए नए अपडेट और फीचर जोड़ते रहते है |

पाइथन का उपयोग क्यों किया जाता है ?

पाइथन एक ऑप्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसका उपयोग जिसका उपयोग हम सॉफ्टवेयर का निर्माण करने के लिए करते है ये एक इन्टरप्रिटर लैंग्वेज भी है जिसका मतलब है की इसमें लिखे गए प्रोग्राम्स के कोड को Run करने के लिए कंप्यूटर Readable फॉर्मेट में बदलकर कमपाईल करना नहीं पड़ता है जबकि दूसरे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में कोड Run करने से पहले Source Code का Object Code कनवर्जर करना पड़ता है इन्टरप्रिटर की हेल्प से पाइथन कोड को लगभग सभी कंप्यूटर पर आसानी से Run किया जा सकता है पाइथन एक प्लेटफार्म इण्डिपेनएंड लैंग्वेज है जो की Windows , Mac और Linux जैसे अलग अलग प्लेटफार्म पर कार्य कर सकता है आज के टाइम में प्रोग्रामर द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाली भाषा पाइथन है इसका उपयोग

  • System Software
  • Web application
  • Computer Graphics
  • Website Creation
  • Game Development
  • App Development
  • Sever Side Programs

आपको ये जानकर हैरानी होगी की पाइथन का इस्तेमाल NASA में भी किया जाता है जहा उपकरण और स्पेस मशीन बनाने के लिए पाइथन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग किया जाता है इसका उपयोग AI ( artificial intelligence ) और Data Science में भी किया जाता है पाइथन की स्टैण्डर्ड लाइब्रेरी बहुत सारे इंटरनेट प्रोटोकॉल को सपोर्ट करती है जैसे html . < XMlL > , JSON , IMAP , FTP आदि |

पाइथन के फीचर

पाइथन एक हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है जिसे code , read और मेन्टेन करना बेहद आसान होता है इसका सोर्स कोड सभी के लिए फ्रीली अवलेबल होता है इसके कोड को Reuse या Modification करने के लिए सभी यूजर के लिए हमेशा ओपन रखा जाता है ताकि यूजर इसे स्वतंत्र रूप से डाउनलोड और उपयोग कर सके यही एक वजह है पाइथन लैंग्वेज को Open Source Programming लैंग्वेज कहा जाता है पाइथन के ऐसे बहुत से यूनिक फीचर है जो की इसे दूसरे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से अलग बनाते है जैसे

1 . Simple

पाइथन भाषा बहुत ही सरल भाषा है उसका उपयोग करना आसान है इसलिए इसे कंप्यूटर का भाषा में सबसे आसान भाषा माना जाता है Python एक ऐसी भाषा है जिसे पढ़ना और समझना बहुत आसान है जिन लोगो को पहले से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में कोई ज्ञान नहीं होता वो भी इस भाषा को पढ़कर आसानी से प्रोग्ग्रामर बन सकते है |

2 . Interpreted Language

जिस तरह हमे बाकि प्रोग्रामिंग लैंग्वेज जैसे C , C++ और Java को Run करने के लिए पहले Compile करना जरुरी होता है Python Code Run Time पर ही Interprete द्वारा Process किया जाता है Python एक ही टाइम में Program के Code को Line By Line Execute करता है इसलिए इस भाषा को Script Language भी कहा जाता है हलाकि Interpreted होने की वजह से Python दूसरे लैंग्वेज से थोड़ी Slow है |

3 . Platform Independent

python Open Source होने के कारण कई प्लेटफार्म पर उपलब्ध है जैसे Linux , MaC OS , Windows पाइथन का कोड आसानी  से किसी भी प्लेटफार्म पर चलता है इसलिए अगर आप पाइथन का कोड किसी भी Operating System पर लिखते है तो आप उस प्रोग्राम को दूसरे Operating System में बिना किसी समस्या के Run कर सकते है | अलग अलग प्लेटफार्म के लिए लग अलग कोड लिखने की आवश्यकता नहीं होती है

4 . Extensible Language

पाइथन पूरी तरह से Extensible Language है अर्थात इसके सोर्स कोड में अन्य प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के Code डेल जा सकते है यदि आप चाहते है की किसी प्रोग्राम का एक भाग तेज़ी से Execute हो तो आप उस भाषा को दूसरे भाषा C से लिख सकते है पाइथन को दूसरे भाषा C और C++ के साथ आसानी से Ingrate किया जा सकता है |

5 . Large Standard Language

पाइथन एक बहुत बड़ा Standard Library मौजूद है यह Library अनेक तरह के कार्यो के लिए उपयुक्त है हमे Rapid Application Development के लिए Module और Packages का समृद्ध set प्रदान करता है , जिसके कारण हमे हर टास्क के लिए अलग से Code नहीं लिखना पड़ता है इसमें Graphical User Interface बनाने के लिए Module है , Web Frameworks बनाने के लिए Module हे Database से डाटा आदान -प्रदान करने के लिए Medule है इसी तरह बहुत से Task Perform करने के लिए Library में Modules उपलब्ध है |

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है python kya Hai in hindi और कितने प्रकार के होते है और साथ ही पाइथन के बारे में जानकर आपको जरूर ख़ुशी हुयी होगी साथ ही ये जानकारी कैसी लगी हमे कमेंट बॉक्स में जरूर बताने और साथ ही अपने सोशल मीडिया पर भी जरूर शेयर करे |

Leave a Comment

%d bloggers like this: